महिला उद्यमियों के सपनों को उड़ान देगी ड्रीमबिल्डर

महिला उद्यमियों के सपनों को उड़ान देगी ड्रीमबिल्डर

पटना। बिहार की महिला उद्यमी अब अमेरिकी सरकार की आॅनलाइन उद्यमी कौशल निर्माण पाठ्यक्रम परियोजना ‘ड्रीमबिल्डर’ के जरिये न केवल अपने आइडिया को योजनाबद्ध तरीके से व्यापार में तब्दील कर पाएंगी, बल्कि अपने सपनों को उड़ान भी दे सकेंगी। पश्चिमी बंगाल की रजाधानी कोलकाता स्थित अमेरिकी वाणिज्य दूतावास की ओर से कार्यान्वित की जा रही इस परियोजना के तहत फरवरी 2019 में प्रशिक्षण शुरू किया, जिसमें पटना की 13 महिला उद्यमियों का चयन किया गया। इन महिला प्रतिभागियोंकी प्रतिभा को निखारने के लिए इस परियोजना ने ड्रीमबिल्डर आॅनलाइन उद्यमी कौशल निर्माण पाठ्यक्रम का उपयोग किया। फ्रीपोर्ट मैकमोरान फाउंडेशन ने एरिज़ोना स्टेट यूनिवर्सिटी के थंडरबर्ड स्कूल आॅफÞ ग्लोबल मैनेजमेंट, अमेरिका के साथ साझेदारी करके महिलाओं के लिए विशेष रूप से डिज़ाइन किया गया आॅनलाइन मॉड्यूल बनाया, जिसमें प्रतिभागियों को व्यवसाय के लिए योजनाएं बनाने, विकसित करने और बाजार की योजना बनाने के लिए मार्गदर्शन दिया गया। प्रशिक्षण समाप्ति के बाद आज महिला उद्यमियों ने यहां अपने व्यवसाय की योजनाओं को फाइनल ‘पिच सत्र’ के दौरान प्रस्तुत किया। इस सत्र को संबोधित करते हुये दूतावास के सहायक निदेशक जे. ट्रेलोआर ने कहा, ‘‘उद्यमिता और नवाचार अमेरिका एवं भारत की साझेदारी का प्रतीक है। दोनों ही देश की सरकारें उस महत्वपूर्ण और सकारात्मक प्रभाव की सराहना करती हैं, जो उद्यमिता और नवाचार को सक्षम बनाने वाले परिवेश का देश की अर्थव्यवस्था और उसकी उन्नति पर पड़ता है। मैं हमारे प्रतिभागियों की कड़ी मेहनत की सराहना करता हूं और उनके व्यावसायिक उपक्रमों की सफलता की कामना करता हूं। श्री ट्रलोआर ने कहा, ‘‘अमेरिकी सरकार का मानना है कि महिला उद्यमियों में निवेश करना आर्थिक विकास और नवाचार को बढ़ावा देता है। हम अक्सर भारत के भागीदारों के साथ विकास और नवाचार को बढ़ावा देने के लिए काम करते हैं। वर्ष 2017 में भारत सरकार और अमरीका ने हैदराबाद में वैश्विक उद्यमिता शिखर-सम्मेलन की सह-मेजबानी की, जिसमें ‘महिलाओं को आगे लाएं, सभी के लिए समृद्धि पाएं’ पर फोकस किया गया।