कोरोना : मौत ने भी खोला खाता, मरने के बाद महिला की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, 5 और संक्रमित मरीज बढ़े

कोरोना : मौत ने भी खोला खाता, मरने के बाद महिला की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, 5 और संक्रमित मरीज बढ़े

जबलपुर । आईसीएमआर लैब से मिलने वाली रिपोर्ट्स अब लगातार शहर की चिंता बढ़ा रही हैं। सोमवार को कुछ 6 रिपोर्ट्स पॉजिटिव आईं हैं। इनमें 5 को मेडिकल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। जबकि चांदनी चौक हनुमानताल निवासी 62 वर्षीय महिला की रिपोर्ट मौत के बाद पॉजिटिव पाई गई है। इसका सीधा आशय है कि महिला की मौत कोरोना संक्रमण से रविवार को हुई थी। प्रशासन ने हनुमानताल को नया कंटेनमेंट एरिया बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। सोमवार को कुल 40 सैम्पल की परीक्षण रिपोर्ट्स आईसीएमआर द्वारा प्रदान की गई। इनमें 4 पूर्व में संक्रमित हुए सुशील राठौर के परिवार से संबंधित 20 वर्षीय रितिक राठौर, 54 वर्षीय रामसिंह, 15 वर्षीय महक, 70 वर्षीय जगदेव सिंह शामिल हैं। इसी तरह सुबह भुआ बिछिया मण्डला निवासी धर्मेन्द्र सिंह को भी पॉजिटिव पाने के बाद मेडिकल में आइसोलेट कराया गया है। धर्मेन्द्र 18 अप्रैल को इंदौर से एक ट्रक में बैठकर कटंगी बायपास पहुंचा था, जहां चैक पोस्ट से उसे सीधे विक्टोरिया अस्पताल परीक्षण के लिए पहुंचाया गया। 19 अप्रैल को धर्मेन्द्र का सैम्पल लिया गया और 20 अप्रैल को उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव मरीज के रूप में प्राप्त हुई।

दो साल से सांस लेने की तकलीफ से पीड़ित थी

शाहिदा हनुमानताल चांदनी चौक निवासी 62 वर्षीय शाहिदा बेगम दो साल से सांस लेने की तकलीफ से पीड़ित थीं। 18 अप्रैल को इन्हें मेट्रो हॉस्पिटल ले जाया गया, इसके बाद विक्टोरिया हॉस्पिटल और 19 अप्रैल को मेडिकल अस्पताल पहुंचाया गया। जहां उनकी मौत हो गई। मौत के बाद उनकी सैम्पल रिपोर्ट 20 अप्रैल को प्राप्त हुई और वो भी पॉजिटिव पाईं गईं। शाहिदा की कॉन्टेक्ट हिस्ट्री का पता लगाया जा रहा है। उनको कैसे संक्रमण हुआ? यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। शाहिदा के परिवार के सभी 10 सदस्यों को आइसोलेशन में भेज दिया गया है।

गतिविधियां शुरू होने पर रहना होगा सावधान

प्रशासन द्वारा आर्थिक गतिविधियों को गति देने के लिए कई प्रतिष्ठानों की शुरुआत कराई जा रही है। प्रशासन ने इस संबंध में पूरी गाइड लाइन व एडवायजरी जारी कर सोशल डिस्टेंसिंग तथा एहतियात के निर्देश दिए गए हैं। इस सबके साथ लोगों को खुद से बेहद सावधानी बरतना होगी। किसी भी तरह की लापरवाही खतरे से खाली नहीं कही जा सकती ।

जबलपुर की पहली मौत

अब तक कोरोना से संक्रमित लोगों की मौतों की अफवाह सोशल मीडिया पर कई बार वायरल हुईं लेकिन सुखद यह रहा कि हर बार वो झूठ साबित हुईं। रविवार को गढ़ा फाटक निवासी सुरेन्द्र मिश्रा की मौत का मामला भी कोरोना संक्रमण से जोड़कर दिन भर चर्चित रहा लेकिन शाम को रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद सभी को राहत हुई। शाहिदा बेगम की मृत्यु के उपरांत आई पॉजिटिव रिपोर्ट से जबलपुर में कोरोना संक्रमण से मौत का यह पहला मामला दर्ज हो गया है।