सजगता एवं तत्परता से बिजली उपभोक्ताओं की समस्याओं का करें समाधान : प्रियव्रत

सजगता एवं तत्परता से बिजली उपभोक्ताओं की समस्याओं का करें समाधान : प्रियव्रत

जबलपुर। मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने दिन भर बिजली कंपनियों के मुख्यालय शक्तिभवन में विद्युत वितरण को लेकर जनप्रतिनिधियों, पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के मैदानी अभियंताओं व उच्चदाब उपभोक्ताओं की प्रतिक्रिया ली। उन्होंने पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के मैदानी अभियंताओं से स्पष्ट रूप से कहा कि वे सजगता व तत्परता से बिजली उपभोक्ताओं की समस्याओं का समाधान करें और उपभोक्ताओं के साथ उनका व्यवहार मृदु व संवेदनशीलता का हो। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि एक सप्ताह में सकारात्मक परिणाम देखने को मिलें। उन्होंने कहा कि उत्कृष्ट कार्य करने वाले विद्युत अभियंताओं व कार्मिकों को पुरस्कृत किया जाएगा और लापरवाही बरतने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी। श्र्ऊर्जा मंत्री ने कहा कि प्रदेश शासन के द्वारा वचन पत्र के अनुसार प्रत्येक वितरण केन्द्र स्तर पर बिजली बिलों की विसंगति के समाधान के लिए समितियों का गठन किया गया है। पिछले वर्षों की तुलना में इस वर्ष 10 प्रतिशत और इस जून माह में अभी तक 15 से 25 प्रतिशत अधिक बिजली सप्लाई की गई है। बैठक में विधायक विनय सक्सेना, तीनों विद्युत वितरण कंपनी के अध्यक्ष सुखवीर सिंह, पीटीसी के सीएमडी पीएआर बेन्डे उपस्थित थे। अधारताल, रिछाई में कम हो ट्रिपिंग शक्तिभवन प्रवास की समापन बैठक ऊर्जा मंत्री ने उच्चदाब उपभोक्ताओं के साथ की। उन्होंने निर्देश दिए कि ऐसा प्रयास किए जाएं कि अधारताल व रिछाई औद्योगिक क्षेत्र में ट्रिपिंग कम से कम हो और सप्लाई के लिए एक अतिरिक्त फीडर की जाए। एमसीसीआई अध्यक्ष रवि गुप्ता, शंकर नागदेव, प्रकाश धीरावाणीपुष्पा बेरी ने बिजली संबंधी समस्या से ऊर्जा मंत्री को अवगत कराया।

रीवा, सागर व शहडोल के अभियंताओं की सुनीं समस्याएं

श्री सिंह ने पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के जबलपुर, रीवा, सागर व शहडोल क्षेत्र की समीक्षा करते हुए कहा कि विद्युत अभियंताओं के समक्ष कई चुनौतियां हैं, लेकिन उन्हें विद्युत वितरण व्यवस्था में और बेहतर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि मैदानी विद्युत अभियंता सप्लाई लाइन का नियमित मेंटेनेंस और सब स्टेशन की लॉग बुक का सतत् परीक्षण करें।

जनप्रतिनिधियों की बैठक से हुई शुरूआत

शक्तिभवन में बैठक के दौरान श्री सिंह ने विद्युत वितरण का फीड बैक लिया। उन्होंने विद्युत अभियंताओं को निर्देश दिए कि वे जनप्रतिनिधियों द्वारा उठाई गई समस्याओं पर गंभीरता दिखाते हुए त्वरित कार्रवाई करें। बिजली आपूर्ति के साथ-साथ खराब ट्रांसफार्मरों को परिवर्तित करने पर विशेष ध्यान केन्द्रित किया जाए। ऊर्जा मंत्री ने जानकारी दी कि पूर्व की तुलना में बिजली की ट्रिपिंग में कमी आई है।