पुणे से कंपनी भेजेगी कर्मचारी, 8 करोड़ से खरीदे गए हैं 3 वाहन

पुणे से कंपनी भेजेगी कर्मचारी, 8 करोड़ से खरीदे गए हैं 3 वाहन

जबलपुर । नगर निगम ने हाल ही में 3 सुपर सक्सर वाहन क्रय किए हैं जिनकी लागत करीब 8 करोड़ रुपए है। इन तीनों वाहनों के अलावा भी नगर निगम ने अपने संसाधनों में वृद्धि करते हुए केटल वैन,50 टिपर आदि लिए हैं। इनमें से सुपर सक्सर वाहनों का ट्रॉयल लॉक डाउन समाप्त होने के बाद ही हो पाएगा क्योंकि इनके ट्रॉयल के लिए पुणे की कंपनी लॉक डाउन समाप्त होने के बाद ही कर्मचारी भेजेगी। लंबे समय से नगर निगम को सुपर सक्सर व्हीकल्स की बेहद आवश्यकता थी। यह मांग करीब 6 से ज्यादा साल पुरानी है। सुपर सक्सर व्हीकल्स से भूमिगत नालों के अलावा सीवर की गंदगी को सक कर प्रवाह को दुरुस्त किया जा सकेगा। शहर में करीब 4 सौ करोड़ रुपए की लागत से नालों का पक्कीकरण हो चुका है,जब से ये नाले कवर्ड हुए हैं संभवतय तभी से इनमें सफाई नहीं हो पाई है। केवल बारिश के समय प्रवाह में जो कचरा बह जाए तो बह जाए अन्यथा जो हिस्सा भूमिगत है वह जस का तस ही रहता है।

सीवर लाइन के जाम होने में सहायक

हालाकि शहर में अभी तक सीवर लाइन का काम पूर्ण नहीं हुआ है। करीब 5 फीसदी हिस्सा जिसे कठौंदा प् लांट से जोड़ा गया है और दमोहनाका शांतिनगर आदि इलाकों के 5 हजार घरों को इससे जोड़ा गया है। इनमें आए दिन प्रवाह रुकने की शिकायतें आती हैं। ऐसी स्थिति में यह सुपर सक्सर मशीन काम कर सकती है।

8 हजार लीटर सोडियम हाईपो क्लोराइड का हो चुका छिड़काव

नगर निगम ने वर्तमान परिस्थितियों क  दृष्टिगत रखते हुए शहर में अब तक 8 हजार लीटर हाइड्रोआक्साइड का छिड़काव कर दिया है। पानी की तरह नजर आने वाले इस रसायन को कोरोना वायरस से बचाव के लिए नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग की 18 टीमें लगातार छिड़काव का कार्य कर रही हैं। इसके चक्कर में कई कर्मचारियों के हाथों में फफोले तक आए हैं। पहली प्राथमिकता में शासकीय या अशासकीय अस्पताल,पुलिस थाना,नगर निगम के संभागीय कार्यालय,मुख्यालय,बिजली कार्यालय,पुलिस थाने व कार्यालय,कंट्रोल रूम के अलावा जहां भी लोगों का जमाव अधिक होता है सभी जगह प्राथमिकता के आधार पर छिड़कव करवाया जा रहा है। इसके अलावा बैंक, सब्जी मंडियों में भी छिड़काव करवाया जा रहा है। सफाई कार्य में जुटे सभी कर्मचारियों को मास्क,दस्ताने ,सेनिटाइजर इत्यादि सुरक्षात्मक उपाय से लैस किया जा रहा है। जो 18 टीमें सोडियम हाईपो क्लोराइड का छिड़काव कर रही हैं उनमें हर टीम में 15 कर्मचारी शामिल हैं।

मच्छर विनिष्टिकरण के लिए हो रहा दवा छिड़काव

इसके अलावा शहर के हर वार्ड में नगर निगम ने अपने कर्मचारी मच्छर विनिष्टिकरण के लिए बड़े पैमाने पर मच्छर विनिष्टिकरण के लिए टीम लगाने का दावा भी किया है। इसमें टिपर वाहनों में लगे जेट सहित हैंड स्प्रे मशीनों की मदद से हर इलाके का दिड़काव किया जा रहा है।

शहर को सेनिटाइज करने ननि ने लगाई 100 स्वास्थ्य सैनिकों की ड्यूटी

कोरोना आपदा से शहर को सुरक्षित रखने नगर निगम द्वारा युद्ध स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं। पर्सनल प्रोटेक्शन किट से लैस होकर नगर निगम के 100 स्वास्थ्य सैनिकों द्वारा प्रतिदिन शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में व्यापक पैमाने पर सैनिटाइजेशन का कार्य किया जा रहा है। नगर निगम आयुक्त आशीष कुमार के निर्देश पर अपर आयुक्त राकेश अयाची एवं स्वास्थ्य अधिकारी भूपेंद्र सिंह के मार्गदर्शन में प्रतिदिन सब्जी मंडियों, पुलिस थानों एवं चौकियों शासकीय कार्यालयों के अलावा एल्गिन अस्पताल, मेडिकल कॉलेज अस्पताल, विक्टोरिया अस्पताल को प्रतिदिन दोनो समय सैनिटाइज किया जा रहा है। नगर निगम आयुक्त श्री आशीष कुमार ने बताया कि अब प्रतिदिन 10 उत्कृष्ट कार्य करने वाले स्वास्थ्य सैनिकों को सम्मानित किया जाएगा। कोरोना के कहर से आम नागरिकों को बचाने के लिए नगर निगम में निरंतर बैठके आयोजित की जा रही है जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अनेक विषयों पर चर्चा की जा रही है। लेखनीय है कि कोरोना संकट को देखते हुए नगर निगम द्वारा निरंतर शहर के अलग-अलग क्षेत्रों, सार्वजनिक स्थलों आवासीय कॉलोनियों, शासकीय कार्यालयों, अस्पतालों आदि क्षेत्रों के अंदर बाहर व्यापक पैमाने पर प्रभावी दवाइयों के माध्यम से सैनिटाइजेशन का कार्य किया जा रहा है।

फैक्ट फाइल

3 सुपर सक्सर व्हीकल आए

8 करोड़ रुपए है लागत

374 करोड़ से नाले हुए हैं कवर्ड

500 करोड़ खर्च हो चुके सीवर लाइन में