कॉग्निजेंट अगले साल देगी 23,000 से अधिक नौकरी

कॉग्निजेंट अगले साल देगी 23,000 से अधिक नौकरी

नई दिल्ली। ग्लोबल आईटी कंपनी कॉग्निजेंट जहां वैश्विक स्तर पर छंटनी कर रही है, वहीं वह भारत में बड़े पैमाने पर नौकरी देने जा रही है। कंपनी कैलेंडर वर्ष 2020 में भारत में 23,000 से अधिक लोगों को नौकरी देगी। यह उन नौकरियों के अलावा है, जो कंपनी बीपीओ कारोबार के लिए कैंपस हायरिंग के जरिये दे रही है। ये नौकरियां साइंस, टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग और मैथमेटिक्स क्षेत्र के पेशेवरों को दी जाएगी। 

भारत के पास दो बड़ी ताकत है - टेक्नोलॉजी और टैलेंट:

कॉग्निजेंट इंडिया के सीएमडी रामकुमार राममूर्ति ने सीआईआई कनेक्ट-2019 सम्मेलन में कहा कि भारत के पास दो खास ताकत है टेक्नोलॉजी और टैलेंट। आम धारणा यह है कि भारत में तुरंत विकास किए जा सकने योग्य प्रतिभा की कमी है। जबकि सच्चाई यह है कि यहां ऐसी प्रतिभा बड़े पैमाने पर मौजूद है। 

5 साल में कंपनी ने कर्मचारियों की संख्या 75,000 बढ़ाई

राममूर्ति ने कहा कि टेक्नोलॉजी टैलेंट के हम शायद सबसे बड़े लाभार्थी हैं। 2014 से 2018 तक कंपनी ने भारत में कर्मचारियों की संख्या में 66,000 की बढ़ोतरी की है। यदि इस साल के पहले नौ महीने को भी जोड़ दिया जाए तो इस दौरान कंपनी ने कर्मचारियों की संख्या में 75,000 की बढ़ोतरी की है। 

वैश्विक स्तर पर 13,000 कर्मचारियों की होगी छंटनी

कंपनी ने पिछले दिनों वैश्विक स्तर पर बहुत जल्द 13,000 कमर्चारियों की छंटनी करने की घोषणा की थी। राममूर्ति ने कहा कि 7,000 लोगों की छंटनी मीडियम और सीनियर लेवल पर होगी। कंपनी कंटेंट कारोबार को भी बंद करने जा रही है। इससे 6,000 और नौकरियां प्रभावित होंगी। कॉग्निजेंट में करीब 2.9 लाख कर्मचारी काम करते हैं। इनमें 2 लाख करीब भारतीय हैं। कॉग्निजेंट फेसबुक आईएनसी की कंटेंट रिव्यू कॉन्ट्रैक्टर है। कंपनी ने ऐसे कर्मचारी रखे हैं, जो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर आपत्तिजनक कंटेंट मॉनिटर करते हैं।