खतरा! हैंड ड्रायर की आवाज से बहरे हो सकते हैं बच्चे

खतरा! हैंड ड्रायर की आवाज से बहरे हो सकते हैं बच्चे

वाशिंगटन। 13 वर्षीय बच्ची की एक चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है। इसमें कहा गया है टॉयलट में लगे हैंड ड्रायर बच्चों के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकते हैं। नोरा कीगन की यह रिपोर्ट केनेडियन पेडियट्रिक सोसायटी के जर्नल में छपी है। इसमें कहा गया है कि हैंड ड्रायर की तेज आवाज बच्चों के कानों के लिए नुकसानदेह साबित हो सकती है। इनकी आवाज किसी खेल के दौरान आने वाली आवाज या फिर किसी सबवे से गुजरती ट्रेन की तरह होती है। नोरा ने इसी सवाल का जवाब तलाशने के लिए करीब एक वर्ष तक इस पर शोध किया। इस दौरान उसने अपने होमटाउन कैलगरी में बने सैकड़ों रेस्टरूम में लगे हैंड ड्रायर की जांच की। नोरा के इस शोध में दो पहलू बेहद खास थे। पहला तो ये कि यह शोध उसके लिए अकादमिक के साथ-साथ निजीतौर पर भी जानकारी बढ़ाने वाला था।

हैंड ड्रायर बनाने में बच्चों का ध्यान नहीं रखतीं कंपनियां

नोरा को पता चला कि कंपनियां इसको बनाते समय इस बात को नजरअंदाज करती हैं कि इससे आने वाली आवाज का बच्चों पर क्या असर पड़ता है। कंपनियों ने इसके लिए एक मानक तैयार किया है। इसके आधार पर हैंड ड्रायर से 18 इंच की दूरी पर वह आवाज को मापते हैं। लेकिन शोध में सामने आया है कि बच्चों के हाथ वहां तक नहीं पहुंच पाते हैं इसके लिए उन्हें 18 इंच के मानक के दायरे के अंदर जाना पड़ता है। यहां पर हैंड ड्रायर से आने वाली आवाज तेज होती है।

आवाज ने दिया शोध का आइडिया

नोरा ने करीब से आॅब्जर्व किया था कि हैंड ड्रायर की आवाज उसके और उसके जैसे बच्चों के कानों में चुभती थी। इसका इस्तेमाल करने वाले बच्चे अपने कानों को किसी चीज से ढंक लिया करते थे, क्योंकि इसकी आवाज काफी हुआ करती थी। यहीं से उसको इस पर शोध करने का ख्याल आया था। उसको लगता था कि यह आवाज छोटे बच्चों के कानों के लिए नुकसानदेह साबित हो सकती है। लिहाजा उसके दिमाग में इसकी जांच करने का आइडिया आया था।

नोरा को थी प्रोजेक्ट की तलाश

नोरा ने अपनी शोध की शुरूआत यूं तो उस वक्त की थी जब वह 5वीं क्लास में थी। उस वक्त वह साइंस फेयर में शामिल करने किसी प्रोजेक्ट की तलाश में थी। इस प्रोजेक्ट पर काम करने से पहले वह कई बार अपने पेरेंट्स से हैंड ड्रायर की तेज आवाज को लेकर शिकायत कर चुकी थी। जब उसने इस पर शोध करना शुरू किया तो सबसे पहले उसने यह तलाश करने की कोशिश की कि आखिर हैंड ड्रायर बनाने वाली कंपनियां इससे निकलने वाली आवाज को मापने के लिए आती कैसे हैं।