सीमा विवाद: भारत को अमेरिका के समर्थन पर भड़का चीन

सीमा विवाद: भारत को अमेरिका के समर्थन पर भड़का चीन

बीजिंग । भारत-चीन सीमा विवाद पर वरिष्ठ अमेरिकी राजयनिक के भारत का समर्थन किए जाने पर चीन ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। चीनी विदेश मंत्रालय ने एक बयान में अमेरिकी समर्थन को बकवास बताया है। चीन ने कहा कि सीमा विवाद पर दोनों देशों के बीच राजनयिक चैनलों के माध्यम से परामर्श चल रहा है, इसमें अमेरिका का कोई काम नहीं है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि चीन-भारत सीमा मुद्दे पर चीन की स्थिति लगातार स्पष्ट रही है। वेल्स की टिप्पणियों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अमेरिका की राजनयिक टिप्पणी केवल बकवास है। झाओ ने कहा कि चीन की बॉर्डर फोर्स देश की क्षेत्रीय संप्रभुता और सुरक्षा को मजबूती से रखती है और भारतीय पक्ष के सीमा के उल्लंघन की गतिविधियों से मजबूती से निपटती है।

 चीन का बयान भारत से समझौते का पालन करने का आग्रह

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा कि हम भारतीय पक्ष से आग्रह करते हैं कि वह हमारे साथ काम करे, हमारे नेतृत्व की अहम सहमति का पालन करे, हस्ताक्षर किए गए समझौतों का पालन करे। भारत को एकतरफा कार्रवाई से बचना चाहिए और स्थिति को जटिल बनाने से भी बचना चाहिए। बता दें कि 5 मई को लद्दाख के पेंगोंग झील क्षेत्र में भारत और चीन के लगभग 250 सैनिकों के बीच झड़प हो गई थी।

 अमेरिका का आरोप भारत से लगी सीमा पर चीन आक्रामक रुख अपना रहा  है।

 दक्षिण एवं मध्य एशिया मामलों से जुड़ी अमेरिका की वरिष्ठ राजनयिक एलिस जी वेल्स ने थिंक टैंक अटलांटिक काउंसिल से कहा था कि चीन यथास्थिति बदलने की कोशिश के तहत भारत से लगती सीमा और दक्षिणी चीन सागर में आक्रामक रुख अपना रहा है। सवाल के जवाब में वेल्स ने आरोप लगाया था कि चीन यथास्थिति को बदलने की कोशिश के तहत भड़काऊ और परेशान करने वाला रुख अख्तियार किए हुए है।

 लद्दाख में एलएसी पर तनाव एमईए ने कहा- भारतीय सेना को सीमा की पूरी जानकारी, चीन ने परेशानी खड़ी की

भारत और चीन के सैनिकों के बीच तनातनी को लेकर भारतीय विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि भारतीय सैनिक भारत की सीमा के भीतर ही गतिविधियां कर रहे हैं और वे सीमा सुरक्षा के लिए निर्धारित प्रक्रियाओं का सख्ती से पालन करते हैं। मंत्रालय ने कहा कि दोनों पक्ष बातचीत कर रहे हैं, हम चीन के साथ लगी सीमा पर शांति बनाए रखने को लेकर प्रतिबद्ध हैं। भारत ने सीमा पर हालिया घटनाओं के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, ‘भारतीय सैनिक सीमा क्षेत्र से भली-भांति परिचित हैं, बल्कि चीनी सैनिकों ने भारतीय बलों द्वारा की जा रही गश्त में बाधा डाली, जिससे ये परेशानी खड़ी हुई।’ खबर है कि भारत-चीन के बीच गैर चिह्नित सीमा पर उत्तर सिक्किम और लद्दाख के पास कई इलाकों में तनाव है।