आइसोलेशन में एक्सरसाइज से अच्छा रहता है शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य

आइसोलेशन में एक्सरसाइज से अच्छा रहता है शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य
आइसोलेशन में एक्सरसाइज से अच्छा रहता है शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य

वाशिंगटन  ।  धरती पर इस वक्त कोरोना वायरस ने कोहराम मचा रखा है। अगर पूरी दुनिया में कोई ऐसा है जो फिलहाल इस खतरे से महफूज है, तो वे हैं ऐस्ट्रोनॉट्स जो धरती पर हैं ही नहीं। अमेरिका की स्पेस एजेंसी नासा के इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन से धरतीवासियों के लिए एक मेसेज आया है। दरअसल, वहां रह रहे ऐस्ट्रोनॉट्स ने अपना अनुभव शेयर किया है कि कैसे वे भी आइसोलेशन में रहते हुए अपना समय बिताया करते हैं। जाहिर है, उनके लिए यह आम बात है। 

फिजिकल और मेंटल हेल्थ, दोनों बेहतर

ऐस्ट्रोनॉट जेसिका ने वीडियो के जरिए आइसोलेशन में भी खुश रहने का तरीका बताया। उन्होंने लिखा है कि एक्सरसाइज करने से सिर्फ शारीरिक नहीं, मानसिक स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है।

 महक, आवाज और नेचर की कमी खलती है । 

स्पेस स्टेशन से वापस आ चुके ऐस्ट्रोनॉट स्कॉट केली बताते हैं कि वहां महक, आवाज और नेचर की कमी बहुत खलती थी। वह लोगों को सलाह देते हैं कि ऐसे में एक शेड्यूल का पालन करना चाहिए। कोई हॉबी रखनी चाहिए, जर्नल लिखनी चाहिए। टीवी सीरीज भी देखना चाहिए और खूब सोना चाहिए। उनका कहना है कि भले ही ऐसे में ऐस्ट्रोनॉट्स की तरह एक्सरसाइज न की जाए, लेकिन थोड़ी बहुत कसरत करनी ही चाहिए।