डबल प्लस के लिए शौचालयों की दीवारों पर उकेरी आकर्षक पेंटिंग

डबल प्लस के लिए शौचालयों की दीवारों पर उकेरी आकर्षक पेंटिंग

इंदौर स्वच्छता का चौका लगाने के लिए नगर निगम ने एक ऐसा कार्य किया है जो हर किसी को प्रभावित कर सकता है। निगम द्वारा शहर में बनाए गए शौचालयों को अंदर और बाहर से संवारा जा रहा है। शौचालयों की आंतरिक व्यवस्था के तहत सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं, जबकि बाहरी हिस्से में शौचालयों की दीवारों पर रंग-बिरंगी और आकर्षित करने वाली पेंटिंग की जा रही है, ताकि लोग शौचालय को स्वच्छ बनाए रखे। शहर को खुले में शौच मुक्त का फिर से प्रमाण-पत्र दिलाने के लिए क्वालिटी कंट्रोल आॅफ इंडिया (क्यूसीआई) की टीम 24 नवंबर को इंदौर आ रही है। यह टीम शहर के विभिन्न स्थानों पर बनाए गए सामुदायिक तथा सार्वजनिक शौचालयों का निरीक्षण करेगी। डबल प्लस के हिसाब से शहर के शौचालयों की सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक शहर को शौचालय डबल प्लस के लिए नगर निगम शहर के सामुदायिक और सार्वजनिक शौचालयों पर विशेष ध्यान दे रही है। नगर निगम इंदौर को केंद्र सरकार के अधिकृत संस्थान क्वालिटी कौंसिल आॅफ इंडिया द्वारा सर्वप्रथम जनवरी 2017 में खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया था। अब डबल प्लस के लिए शौचालयों पर काम किया जा रहा है। बताया गया है कि निगम द्वारा शहर में 350 सामुदायिक तथा सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण किया गया है, जबकि महिलाओं और पुरुषों के लिए 450 सार्वजनिक मूत्रालय बनाए गए हैं।

शौचालयों में सेनेटरी वेडिंग नैपकिन मशीन की सुविधा भी

बताया गया है कि क्यूसीआई की टीम 24 को इंदौर पहुंचकर 28 नवंबर तक शहर में बने सार्वजनिक और सामुदायिक शौचालयों की स्थिति देखेंगे। शहर के सभी सामुदायिक एवं सार्वजनिक शौचालयों में केंद्र शासन के मान के अनुसार संपूर्ण सुविधाएं जैसे दिव्यांगों, बच्चों एवं महिलाओं के उपयोग के लिए अलग- अलग सेक्शन्स बनाए गए हैं। सभी शौचालयों में व्हील चेयर एवं रैम्प के साथ ही हवा, पानी एवं प्रकाश की व्यवस्था की गई है। साथ ही इन शौचालयों में सेनेटरी वेडिंग नैपकिन मशीन की सुविधा भी प्रदान की गई है, जिसके माध्यम से महिलाएं आवश्यकता अनुसार सेनेटरी नैपकिन उपयोग कर सकें।