एशिया के हैं दंपती, बच्चे एशियाई नहीं!

एशिया के हैं दंपती, बच्चे एशियाई नहीं!

न्यूयॉर्क। न्यूयॉर्क में भ्रूण बदलने का एक मामला सामने आया है, जो संभवत: अब तक का पहला मामला है और अमेरिका की अदालत तक पहुंच चुका है। दरअसल यह मामला पिछले साल का है जब बच्चा न होने पर एशियाई दंपती एक फर्टिलिटी क्लीनिक में आईवीएफ ट्रीटमेंट के लिए गए थे। डिलीवरी के बाद उन्हें डीएनए टेस्ट के जरिए पता चला कि दोनों ही बच्चे उनके नहीं हैं। वे सीएचए फर्टिलिटी क्लीनिक में गए थे, जहां दंपती के स्पर्म और एग लेकर पांच भ्रूण तैयार किए थे। इसमें चार लड़कियों और एक लड़के का भ्रूण था। आईवीएफ ट्रीटमेंट से उनका पहला प्रयास असफल रहा था, जिसके बाद सितंबर 2018 में किए गए दूसरे प्रयास में महिला गर्भवती हुई। सोनोग्राफी जांच से उनके दो जुड़वा बच्चों की पुष्टि हुई थी। हैरान करने वाली बात यह है कि दोनों ही बच्चे एशियाई नहीं थे जबकि दंपती एशिया की है। डीएनए टेस्ट से पता चला कि दोनों ही बच्चे अलग- अलग दंपती के थे। इस कारण बच्चों को उन्हें उनके माता-पिता को सौंपना पड़ा।