अयोध्या पर फैसले का नोटिस आते ही, प्रशासन अलर्ट-पुलिस मुस्तैद, अमन की हो रहीं गुजारिशें

अयोध्या पर फैसले का नोटिस आते ही, प्रशासन अलर्ट-पुलिस मुस्तैद, अमन की हो रहीं गुजारिशें

जबलपुर अयोध्या प्रकरण पर फैसले की घड़ी आ गई है। आज शनिवार को सर्वोच्च न्यायालय अपना आदेश सुनाने जा रहा है। इसके चलते पुलिस और प्रशासन अलर्ट पर आ गए हैं। फैसला किसी के भी पक्ष में आए, लेकिन अमन-चैन कायम रहे, यह गुजारिशें व अपील सभी संप्रदायों के धर्मगुरू, जनप्रतिनिधि, पुलिस व प्रशासनिक अफसरों द्वारा लगातार की जा रही हैं। लोगों ने भी एक-दूसरे से शांति व सद्भाव कायम रखने की अपील की है। कलेक्टर ने जिले में कानून एवं शंति व्यवस्था बनाएं रखने दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के प्रावधानों के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश लागू कर दिया है।

पुलिस की पांच कंपनियां तैनात

शहर में शांति व्यवस्था कायम रखने पुलिस ने 500 का बल तैनात कर दिया है। पुलिस अधीक्षक अमित कुमार ने बताया कि फैसले के मद्देनजर शहर में कई जगह बेरिकेटिंग कर दी गई है। देर रात अफसरों की मीटिंग लेकर आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। बाहर से आने वाले वाहनों व लोगों पर विशेष निगरानी रखी जा रही है। होटल, लॉज, धर्मशाला, बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन आदि स्थानों पर लगातार जांच का सिलसिला शुरू कर दिया गया है। शांति व सद्भाव को बिगाड़ने का प्रयास करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

आज बंद रहेंगे स्कूल-आंगनबाड़ी

राज्य शासन के आदेश पर शनिवार को जिले में समस्त स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है। कलेक्टर भरत यादव के अनुसार उक्त आदेश उप सचिव स्कूल शिक्षा विभाग सुधीर कुमार कोचर के आदेश के परिपालन में किया गया है। कलेक्टर ने आंगनबाड़ियो में भी अवकाश घोषित किया है।

36 सेक्टरों में बंटा जिला, मजिस्ट्रेट तैनात

जिला दंडाधिकारी एवं कलेक्टर भरत यादव ने कानून व्यवस्था बनाए रखने जिले को 36 सेक्टरों में विभाजित कर विभिन्न विभागों के अधिकारियों को सेक्टर मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात किया है। इस बारे में जारी आदेश के मुताबिक प्रत्येक सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने से संबंधित क्षेत्र में लगातार भ्रमण कर कानून व्यवस्था की स्थिति पर नजर रखेंगे तथा किसी भी प्रकार की घटना की सूचना मिलने पर तत्काल संबंधित अनुविभागीय दंडाधिकारी को सूचना देंगे।

 सोशल मीडिया पर निगरानी रखने कोर ग्रुप का गठन

जिला दंडाधिकारी एवं कलेक्टर ने वाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया के सभी माध्यमों पर प्रसारित आपत्तिजनक संदेशों, आडियो-वीडियो एवं चित्रों पर निगरानी रखने कोर ग्रुप का गठन किया है। इस कोर ग्रुप की कमान डिप्टी कलेक्टर अनुराग तिवारी को सौंपी गई है। उन्होंने कोर ग्रुप को पुलिस सायबर सेल एवं पुलिस कंट्रोल रूम से समन्वय स्थापित कर सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने, वैमनस्यता पैदा करने तथा धार्मिक भावनाएं आहत करने वाली सूचनाएं, संदेश, आडियो-वीडियो एवं चित्र प्रसारित करने वाले तत्वों पर आईटी एक्ट के तहत कार्रवाई सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी भी दी है ।

शांति का टापू है प्रदेश

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सांसद राकेश सिंह ने कहा है कि मध्यप्रदेश को शांति का टापू माना जाता है। यहां सभी धर्मों के लोग मिलजुलकर एक साथ व्रत त्यौहार मनाते आए हैं। राम जन्मभूमि को लेकर फैसला आने वाला है। श्री सिंह ने प्रदेश के नागरिकों, राजनीतिक दल और अन्य संगठन से जुड़े लोगों से अपील करते हुए कहा है कि हम सब मिलजुलकर उच्चतम न्यायालय के आने वाले फैसले का स्वागत करेंगे। उन्होंने भाजपा कार्यकताओं से भी कहा है कि प्रत्येक कार्यकर्ता प्रदेश में शांतिमय वातावरण को और मजबूत करने की दिशा में आगे बढ़कर अपनी भूमिका का निर्वहन करे।

कानून व्यवस्था बनाए रखने में करें सहयोग : कलेक्टर

कलेक्टर ने नागरिकों से कानून व्यवस्था बनाए रखने में प्रशासन को सहयोग प्रदान करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि जबलपुर की सांप्रदायिक सद्भाव की गौरवशाली परंपरा रही है और इस शहर ने अनेकों अवसरों पर गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल पेश कर देश भर में अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्होंने अफवाहों से सतर्क रहने और शांति भंग करने की कोशिश करने वाले तत्वों की सूचना तत्काल पुलिस को देने का अनुरोध नागरिकों से किया है।