शाम ढलते ही आधे शहर में छा जाता है अंधकार, नगर निगम ने नहीं किया ठेकेदार का भुगतान

शाम ढलते ही आधे शहर में छा जाता है अंधकार, नगर निगम ने नहीं किया ठेकेदार का भुगतान

जबलपुर   नगर निगम ने विद्युत आपूर्ति व मेंटेनेंस करने वाले ठेकेदार का भुगतान करीब 2 माह से नहीं किया है। जिसके कारण शाम ढलते ही आधे शहर में अंधेरा छा जाता है। ठेकेदारों ने मेंटेनेंस से लेकर उपकरणों की आपूर्ति तक रोक दी है। करीब महीने भर से शहर के कई मुख्य इलाकों की स्ट्रीट लाइटें बंद हैं। इन रास्तों से गुजरने वाले वाहन की लाइटों का सहारा होता है। पैदल या साइकिल सवारों के लिए मुसीबतें ही मुसीबतें होती हैं। सड़कों से लेकर वार्डों में अंधेरा पसरा है। इसके बावजूद नगर निगम स्ट्रीट लाइटें बदलवाने कुछ नहीं कर पा रहा है। अभी कुछ दिन और रुकना होगा क्योंकि ठेकेदार का भुगतान नहीं हुआ है।

अंधेरे में हो रहे कई हादसे

नगर निगम के अफसर इस बात से बेखबर हैं कि सड़कों और वार्डों में स्ट्रीट लाइट बंद होने से हादसे हो रहे हैं। बारिश का समय चल रहा है,ऐसे में किस सड़क में कहां कितना बड़ा गड्ढा है अंधेरे में नहीं नजर आता और वाहन चालक या पैदल राहगीर इनमें गिरकर घायल हो रहे हैं। वहीं असामाजिक तत्व लूट-पाट के लिए भी सक्रिय रहते हैं। मिल्क स्कीम से शोभापुर मार्ग पर विगत दिनों 2 युवक दुर्घटना के शिकार बन चुके हैं।

यहां पर हालात बुरे

इंदिरा मार्केट से बर्न कंपनी मार्ग,कांचघर तक रात होते ही अंधेरा पसर जाता है।सुभाषचंद्र बोस वार्ड में पहाड़ी क्षेत्रों में रहने वालेलोक को अंधेरे से जहरीले जीव-जंतुओं का खतरा सताता है। मदनमहल लिंक रोड जिसे ग्रीन लैंड घोषित किया गया था में भी अंधेरा छाया रहता है। कछपुरा ओवर ब्रिज में आधे पुल की लाइटें बंद हैं। पुरवा से धनवंतरी नगर मार्ग में भी अंधेरा है। धनवंतरी नगर से भूकंप कॉलोनी जाने वाले मार्ग पर भी अंधेरा है।