अंजुमन इस्लामिया में फिर गड़बड़झाला, कमेटी सस्पेंड, वक्फ बोर्ड ने एफआईआर के लिए भेजा पत्र

अंजुमन इस्लामिया में फिर गड़बड़झाला, कमेटी सस्पेंड, वक्फ बोर्ड ने एफआईआर के लिए भेजा पत्र

जबलपुर ।    वक्फ अंजुमन इस्लामिया मढ़ाताल में एक बार फिर गड़बड़झाला सुर्खियों में है। जिसके चलते वक्फ बोर्ड ने पहले प्रबंधन कमेटी को शोकॉज नोटिस भेजा, भोपाल से कमेटी भेजकर जांच करवाई और जांच प्रतिवेदन के आधार पर कमेटी को दस दिनों के लिए सस्पेंड कर दिया। इसके बाद वक्फ बोर्ड के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा एफआईआर के लिए पत्र भी पुलिस को भेजा गया है। उल्लेखनीय है कि शहर ही नहीं बल्कि समूचे महाकौशल की बड़ी सम्पत्तियों में शुमार अंजुमन इस्लामिया पिछल दो दशकों से गोलमाल के लिए पहचानी जाने लगी है। एक समय का प्रतिष्ठित स्कूल इसी सब के बीच लगातार अपना ग्राफ गिराता चला गया। अब एक बार फिर अंजुमन इस्लामिया में जांच- पड़ताल का दौर एफआईआर की ओर कूच कर रहा है।

सीईओ ने जारी किया आदेश

बताया जाता है कि इस पूरे मामले में कमेटी तथा अध्यक्ष को आरोपित करते हुए मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा आदेश जारी करते हुए अनवर हुसैन की अध्यक्षता वाली प्रबंधन कमेटी अंजुमन इस्लामिया मढ़ाताल जबलपुर को तत्काल प्रभाव से आगामी 10 दिवस के लिए निलंबित किया गया है।

पुलिस को भेजा पत्र

वक्फ बोर्ड सीईओ द्वारा भेजे गए पत्र में कलेक्टर तथा एसपी जबलपुर को लिखा गया है कि अध्यक्ष द्वारा 19 फरवरी 2018 से कार्यालय में ताला लगा दिया गया है तथा कर्मचारियोंं को कर्तव्य से अनुपस्थित रहने के लिए कह दिया गया है। एकाउण्टेंट अनवारउदद्ीन न कमेटी के सामने उपस्थित हो रहे हैं और न ही किसी का फोन उठा रहे हैं। पत्र में एफआईआर के आग्रह के साथ उल्लेखित है कि वक्फ बोर्ड के सीनियर आॅडिटर जिल्लुर्रहमान के नेतृत्व में जो रिपोर्ट तैयार की गई है, उसमें स्पष्ट तौर पर अनियमितताओं का जिक्र है।