नेहरू नगर में कोरोना पॉजिटिव की मौत के बाद किसी ने साड़ी तो किसी ने वाहनों से की बैरिकेडिंग

नेहरू नगर में कोरोना पॉजिटिव की मौत के बाद किसी ने साड़ी तो किसी ने वाहनों से की बैरिकेडिंग
नेहरू नगर

इंदौर जिले में कोरोना अपने पैर पसारते जा रहा है। कुछ विशेष घनी बस्तियों से निकलकर अब यह अन्य इलाकों में भी फैलने लगा है। नेहरू नगर, तिलक नगर, विनोबा नगर जैसे नए क्षेत्रों में कोरोना ने दस्तक दे दी हैं। इंदौर में हाल ही में कुछ विशेष कंटेनमेंट एरिया में जहां नियमों का पालन नहीं किया गया और स्वास्थ्य कर्मचारियों पर पत्थर फेंके गए। वहीं कुछ क्षेत्र ऐसे भी हैं जहां रहवासी खुद गली के दोनों तरफ बैरिकेडिंग कर रहे हैं। नेहरू नगर में गली न 4 में 3 अप्रैल को एक 30 वर्षीय युवक की कोरोना संक्रमण से मौत हुई है। जिसके चलते इस एरिया को कंटेंटमेंट क्षेत्र घोषित किया गया है।
पीपुल्स प्रतिनिधि ने जब इस क्षेत्र का दौरा किया तो देखा कि गली न 4 से लगी हुई गली न. गली नं.3, गली नं.5, गली नं.6 और गली नं.7 में लोग ज्यादा सतर्क दिखे। किसी ने साड़ियों से तो किसी ने आॅटो रिक्शा से गली को सील किया तो वहीं किसी गली में दो पहिया और चार पहिया वाहनों से बैरीकेडिंग कर दोनों तरफ से गली को बंद किया गया। जबकि गली नं 1 में रहने वाले मृतक के रिश्तेदार भी कोरोना के संदेही है क्योंकि वे मृतक के साथ पूरे समय रहे हैं। लेकिन यहाँ बड़ी लापरवाही देखने को मिली। जिम्मेदारों द्वारा गली न 1 को सील करने के वजाय इसके पास वाले रास्ते को सील कर दिया गया। जबकि संदेही के घर के बाहर न ही कोई बैरिकेडिंग थी न ही आने जाने पर रोक थी। इस गली में वाहनों की खासी आवाजाही थी।   
विद्या पैलेस में 20 घरों पर लगाए स्टीकर्स
कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद अन्य सदस्यों के भी लिए सैंपल
विद्या पैलेस में जब से कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना मिली है, तब से रहवासी दहशत में हैं। रहवासी बताते हैं कि मंगलवार सुबह ही उन्हें सूचना दी गयी कि उनके मोहल्ले में कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। सभी को पर्सनली फोन लगा-लगाकर यह सूचना दी गयी कि कोई भी घर से बाहर न निकले। दोपहर तक आसपड़ोस के 20 घरों में होम क्वेरेंटाइन के स्टीकर लगा दिये गए। रहवासी बताते हैं कि परिवार में चार सदस्य हैं, जिनमें से एक पॉजिटिव है वे हॉस्पिटल में हैं। बाकी दूसरे सदस्य घर और ही है, उनकी भी जांच की गई। परिवार का पीने का पानी तक अलग से लाया जा रहा है।
पुलिस ने दी सूचना
हमें सुबह एरोड्रम थाने से पुलिस का फोन आया था, उन्होंने ही हमें सूचित किया कि हमारे घर के सामने पॉजिटिव केस निकला है। तभी से हम लोग घर में कैद हो चुके हैं। हमसे पूछा भी गया कि क्या हम कभी उनके सम्पर्क में आये हैं।
- शिशिर मीणा
भरवाया गया सर्वे फॉर्म
न में स्वास्थ्य विभाग की टीम आयी थी उन्होंने हमसे एक सर्वे फॉर्म भरवाया उसमें हमारा विवरण, स्वास्थ्य संबंधी जानकारी हमने भरी। साथ ही हमारे घर के बाहर क्वेरेंटाइन वाले स्टिकर भी लगाये गये। पुलिस बराबर पहरा दे रही है यहाँ।
- राधिका अवस्थी