शुरू हो गई कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया, जुलाई में सत्यापन

शुरू हो गई कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया, जुलाई में सत्यापन

जबलपुर ।   जबलपुर के निजी और सरकारी कॉलेजों के यूजी और पीजी कोर्स में एडमिशन की प्रक्रिया सोमवार से शुरू हो गई। तीन चरणों में विद्यार्थियों को आॅनलाइन प्रवेश दिए जाएंगे। विद्यार्थियों को एमपी आॅनलाइन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है। विद्यार्थी स्रातक यूजी में प्रवेश लेने के लिए सोमवार और पीजी में प्रवेश लेने के लिए 15 जून से पंजीयन कर पाएंगे। एडमिशन को लेकर उच्च शिक्षा विभाग ने इस बार कॉलेजों में संचालित सेल्फ फाइनेंस कोर्स को लेकर नियमों में बदलाव किया है। ऐसे सेल्फ फाइनेंस कोर्स, जिनमें पिछले शिक्षण सत्र में कम एडमिशन हुए हैं, उनमें इस साल एडमिशन नहीं दिए जाने के प्रावधान किए गए हैं। इसके तहत पीजी के ऐसे कोर्स, जिनमें पिछले साल 25 से कम यानि 24 एडमिशन भी हुए हैं, तो उन कोर्स में इस साल एडमिशन नहीं होंगे। वहीं यूजी के ऐसे सेल्फ फाइनेंस कोर्स, जिनमें पिछले साल 10 से कम यानि 9 या इससे कम एडमिशन हुए हैं, तो इन कोर्स में भी इस बार दाखिले नहीं होंगे।

मांगें जाएंगे 9 विकल्प

कॉलेज छात्रों से पसंदीदा कॉलेज का चयन करने के लिए 9 विकल्प मांगे जाएंगे। मेरिट के आधार पर सीट का आॅन लाइन आवंटन होगा। प्रदेश के बाहरी छात्रों के लिए विभाग ने सख्ती बरती है। इनमसे शपथ पत्र लिया जाएगा। किसी भी छात्र से दस्तावेज या कोई झूठी जानकारी दी तो उसे 3 साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया जाएगा।

15 से शुरू होगी प्रवेश प्रक्रिया

स्नातकोत्तर कक्षाओं में प्रवेश लेने के लिए विद्यार्थी 15 जून से पंजीयन और 1 जुलाई तक सत्यापन करा पाएंगे। विभाग 27 जून को यूजी को अलॉटमेंट जारी करेंगे। इससे विद्यार्थी एक जुलाई तक कॉलेज पहुंच कर प्रवेश ले सकेंगे। वहीं पीजी का अलाटमेंट आठ जुलाई को होगा। विद्यार्थी 11 जुलाई तक फीस जमा कर प्रवेश ले पाएंगे। विभाग 3 जुलाई को यूजी और पीजी की 13 जुलाई से दूसरे राउंड की काउंसलिंग शुरू करेगा। काउंसलिंग का तीसरा राउंड कॉलेज लेवल काउंसलिंग सीएलसी के रूप में होगा। यूजी की सीएलसी 22 जुलाई और पीजी की 29 जुलाई को शुरू होगी। यूजी 8 अगस्त और पीजी काउंसलिंग 14 अगस्त को समाप्त हो जाएगी।

ओटीपी आते ही कॉलेज होगा लॉक

विद्यार्थी स्नातक कक्षाओं में प्रवेश लेने के लिए 10 से 16 जून तक पंजीयन और 17 जून तक सत्यापन करा पाएंगे। एमपी बोर्ड के विद्यार्थी आॅनलाइन पंजीयन करते समय जैसे ही 12वीं का रोल नंबर डालेंगे, वैसे ही उनका सत्यापन हो जाएगा। इस दौरान उन्हें अपना मोबाइल नंबर भी देना होगा। विद्यार्थी प्रवेश लेने के लिए सिर्फ 9 कॉलेजों का चयन कर पाएंगे। कॉलेजों का चयन करने के बाद विद्यार्थी के रजिस्टर्ड मोबाइल पर एक वन टाइम पासवर्ड ओटीपी आएगा। ओटीपी देने के बाद ही विद्यार्थियों के कॉलेज लॉक हो पाएंगे। एमपी बोर्ड से बाहर के बोर्ड होने की दशा में विद्यार्थियों का सत्यापन नहीं हो पाएगा। आॅनलाइन आवेदन करते समय विद्यार्थियों के आवेदन फार्म पर प्रकाशित होगा कि उन्हें किस सरकारी कॉलेज में पहुंचकर अपना सत्यापन कराना है।

महाकौशल कॉलेज में पंजीकृत विद्यार्थियों का सत्यापन शुरू

कॉलेज चलो अभियान के तहत महाकौशल कॉलेज की टीम विस्थापित पिरसर पहुंची जहां आंगनबाड़ी केन्द्र में लगीाग 230 एवं द्वितीय में लगभग 210 परिवार रहते हैं। यहां उत्तीर्ण हुए छात्र राहुल चौधरी, कॉलज चौधरी, वर्षा लोभी, ज्योति सोनी, नितिन साहू हैं। इन बच्चों को आॅन लाइन प्रवेश प्रक्रिया की जानकारी दी गई एवं समस्त शासकीय योजनायें जैसे छात्रवृत्ति मुख्यमंत्री मेधावी योजना, जन कल्याण योजना की जानकारी दी गई। छात्रों को प्रवेश के लिए प्रोत्साहित किया गया। इस संबंध में डॉ. अरुण शुक्ला ने बताया कि कॉलेज कोड एवं विषय सूची व योजनाओं की जानकारी सूचना पटल पर देखी जा सकती है।