एच1 बी वीजा के लिए 700 रु. ज्यादा चुकाना होगा शुल्क

एच1 बी वीजा के लिए 700 रु. ज्यादा चुकाना होगा शुल्क

वॉशिंगटन। अमेरिका के ट्रंप प्रशासन ने भारत समेत अन्य देशों के आईटी प्रोफेशनल्स को बड़ा झटका दिया है। अमेरिका ने एच- 1बी वीजा के लिए आवेदन की फीस 10 डॉलर (करीब 700 रुपए) बढ़ा दी है। यह फीस नॉन-रिफंडेबल होगी। अमेरिकी नागरिकता और आव्रजन सेवा (यूएससीआईएस) ने कहा कि इस फीस के जरिए इलेक्ट्रॉनिक रजिस्ट्रेशन सिस्टम (ईआरएस) को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। इससे आने वाले समय में एच-1बी वीजा के लिए लोगों के सिलेक्शन में आसानी होगी। 

अभी यह लगती है फीस

एच-1बी वीजा के लिए अभी आवेदन पर 460 डॉलर (करीब 32 हजार रुपए) लिए जाते हैं। इसके अलावा कंपनियों को धोखाधड़ी रोकने और जांच के लिए 500 डॉलर (करीब 35 हजार रुपए) का अतिरिक्त भुगतान भी करना पड़ता है। प्रीमियम क्लास में 1410 डॉलर (करीब 98 हजार रु.) का अतिरिक्त भुगतान करना पड़ता है।