19 हजार करोड़ की लागत से मुंबई में बनेगी 42 किमी की मेट्रोलाइन

19 हजार करोड़ की लागत से मुंबई में बनेगी 42 किमी की मेट्रोलाइन

मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुंबई में तीन मेट्रो लाइनों का लोकार्पण किया है। महाराष्ट्र के एक दिवसीय दौरे पर पहुंचे मोदी ने यहां मनाए जा रहे गणेश उत्सव में हिस्सा लिया और लोकमान्य सेवा संघ (एलएसएस) के मंडप में भगवान गणेश के दर्शन किए। इस मौके पर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस उपस्थित हुए। मोदी द्वारा लोकार्पित 42 किलोमीटर की इस रेल लाइन पर 19,000 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इसके साथ ही मुंबई महानगर में 14 मेट्रो लाइन हो जाएंगे। प्रधानमंत्री ने जिन मेट्रो लाइन का शिलान्यास किया, वे हैं 9.2 किलोमीटर का गायमुख-शिवाजी चौक (मीरा रोड), 12.8 किलोमीटरा का वडाला-छत्रपति शिवाजी टर्मिनस और 20.7 किलोमीटर के कल्याण-तलोजा। मोदी ने आरे कॉलोनी में 32 मंजिला मेट्रो भवन का भी शिलान्यास किया। यह इलाका शहर के दो बड़े हरित क्षेत्रों में से एक है और इसलिए यहां इमारत बनाने को लेकर आलोचना की जा रही है। मेट्रो भवन से मुंबई में प्रस्तावित 14 मेट्रो लाइन का परिचालन एवं नियंत्रण होगा।

देश को गति देने वाला शहर है मुंबई

मोदी ने कहा कि मुंबई वो शहर है जिसकी गति ने देश को भी गति दी है। यहां के परिश्रमी लोग इस शहर से प्यार करते हैं। अभी मुंबई में सिर्फ 11 किलोमीटर का मेट्रो नेटवर्क है, लेकिन 2023-24 तक ये बढ़कर सवा 3 सौ किलोमीटर से अधिक का हो जाएगा। उन्होंने बताया कि मेक इन इंडिया के तहत बनने वाले ये आधुनिक मेट्रो कोच मुंबई मेट्रो को सुरक्षित और सुविधाजनक और किफायती बनाने वाले हैं। अगर मैं सिर्फ मुंबई में शुरू हुए मेट्रो के कार्यों की बात करूं तो इससे 10 हजार इंजीनियर और 40 हजार स्किल्ड और अनस्किल्ड लोगों को रोजगार के मौके मिलेंगे।

सरकार के 100 दिन में हुए ऐतिहासिक काम

इधर इस मौके पर मोदी ने आज जब देश 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी के लक्ष्य की तरफ बढ़ रहा है, तब हमें अपने शहरों को भी 21वीं सदी की दुनिया के मुताबिक बनाना ही होगा। इसी सोच के साथ हमारी सरकार अगले पांच साल में आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर 100 लाख करोड़ रुपये खर्च करने जा रही है। इस सरकार को 100 दिन हो रहे हैं और इन 100 दिनों में ही ऐसे-ऐसे कार्य हुए हैं, जो अभूतपूर्व हैं, ऐतिहासिक हैं।

मोदी ने लॉन्च किया मुंबई मेट्रो के लिए बीईएमएल निर्मित कोच

मोदी ने देश में निर्मित मेट्रो कोच को लॉन्च किया जिसका इस्तेमाल मुंबई मेट्रो नेटवर्क में होगा। बेंगलुरु स्थित संयंत्र में भारत अर्थ मूवर्स (बीईएमएल) ने इसे मात्र 75 दिनों में तैयार किया है। मुंबई मेट्रो रेल कॉरपोरेशन को 500 कोच की आपूर्ति की जाएगी। मुंबई राजधानी दिल्ली से करीब एक दशक के बाद आधुनिक सर्वाजनिक परिवहन व्यवस्था को गति दे रही है और अगले एक दशक में 1.2 लाख करोड़ रुपये की लागत से 337 किलोमीटर लंबे सात कॉरिडोर बनाने की योजना है।

इधर दिल्ली मेट्रो रेल 209 किमी के रूट को करती है कवर

दिल्ली- एनसीआर की मेट्रो रेल परिवहन व्यवस्था है जो दिल्ली मेट्रो रेल निगम लिमिटेड द्वारा संचालित है। जनवरी 2018 तक की स्थिति के अनुसार दिल्ली मेट्रो रेल 209 किमी को कवर करती है, जिसमें फेज तीन के एक्स्टेंशन भी शामिल हैं। इसमें दिलशाद गार्डन - रिठाला , 25.09 किमी, समयपुर बादली - हुडा सिटी सेंटर , 49 किमी, नोएडा सिटी सेंटर - द्वारका सेक्टर, 49.93 किमी भी शामिल है।