15 वर्ष की नाबालिग को गर्भपात की इजाजत

15 वर्ष की नाबालिग को गर्भपात की इजाजत

इंदौर ।   बलात्कार के कारण गर्भवती हुई 15 वर्ष की नाबालिग के गर्भपात की हाईकोर्ट ने इजाजत दे दी है। मंगलवार को गर्भपात की अनुमति से जुड़ी याचिका पर जस्टिस एसके अवस्थी की कोर्ट में सुनवाई हुई। 10 मई को कोर्ट ने मेडिकल बोर्ड गठित कर मंगलवार को रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए थे। रिपोर्ट में गर्भपात को सुरक्षित बताया गया था। कोर्ट द्वारा इजाजत मिलने के बाद नाबालिग को एमवायएच में भर्ती कराया गया।

पेट में 22 सप्ताह का गर्भ

अन्नपूर्णा थाना क्षेत्र से जुड़े मामले में पुलिस ने 17 वर्ष के नाबालिग आरोपी और उसकी मामी के खिलाफ केस दर्ज किया है। पिछले सप्ताह पीड़िता अपनी मां के साथ कलेक्टर के पास पहुंची थी और गर्भपात की अनुमति मांगी थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए कलेक्टर ने मामले को तत्कालीन महिला बाल विकास और बाल कल्याण समिति के समक्ष भेज दिया था। समिति की माया पांडे ने बताया कि पहले बच्ची कुछ बताने को तैयार नहीं थी, लेकिन काउंसलिंग के बाद उसने आरोपी और उसकी मामी के बारे में जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने दोनों के खिलाफ केस दर्ज किया गया। चूंकि बच्ची को 22 सप्ताह का गर्भ था, इसलिए बिना कोर्ट की इजाजत के गर्भपात नहीं हो सकता था। इस पर हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी और मंगलवार को कोर्ट ने अनुमति दी है।