शराब खरीदने वालों से किया दूध और छाछ पीने का आग्रह

शराब खरीदने वालों से किया दूध और छाछ पीने का आग्रह

इंदौर। शहरभर में शराब दुकानों का विरोध जारी है। अलग-अलग क्षेत्र में शराब दुकानों के विरोध में आए दिन प्रदर्शन हो रहे हैं। स्कीम नंबर 54 में रहवासी अब गांधीगीरी पर उतर आए हैं। उन्होंने सोमवार रात से एक अनोखा प्रदर्शन शुरू करते हुए शराब खरीदने आने वालों को छाछ और दूध बांटना शुरू किया है। वे हाथ जोड़कर इनसे आग्रह कर रहे हैं कि वे शराब छोड़कर दूध और छाछ का सेवन करें। बड़ी संख्या में लोग टेंट लगाकर अपना विरोध जता रहे हैं। रहवासी टेंट लगाकर बारी-बारी से धरना दे रहे हैं और शाम होते ही भजनों का दौर शुरू हो रहा है। भजन मंडलियों में महिलाएं भी बढ़- चढ़कर हिस्सा ले रही हैं। रात में भजन संगीत का आयोजन- शराब दुकान के विरोध में महिलाएं रात में भजन संगीत का आयोजन कर रही हैं। इसी प्रकार केसरबाग रोड स्थित शराब दुकान के विरोध में भी रहवासी अब गांधीगीरी के रास्ते पर चल पड़े हैं। उनके विरोध ने सोमवार को उन्हें समझाने पहुंचे प्रशासनिक अफसरों को उलटे पैर लौटने पर मजबूर कर दिया। मंगलवार से उन्होंने एक नया प्रयोग शुरू करते हुए हाथ जोड़कर ग्राहकों से शराब के बजाय दूध और छाछ पीने का आग्रह किया। केसरबाग रोड के रहवासियों ने पिछले पांच दिनों से शराब दुकान का विरोध करते हुए उसके बाहर ही अपना डेरा जमाए रखा है। शराब लेने आने वालों को रहवासी दूध बांट रहे हैं। जल्द हटाएं दुकान नहीं तो उग्र आंदोलनस्थ् ाानीय रहवासियों के साथ विरोध कर रहे कांग्रेस नेता प्रकाश पटेल ने बताया कि शराब दुकान पर आने वाले ग्राहकों से रहवासियों द्वारा हाथ जोड़कर निवेदन किया जा रहा है कि वे शराब पीकर अपना और परिवार का जीवन खराब ना करें। इसके बजाय वे दूध, दही और छाछ जैसी पौष्टिक चीजें का सेवन करें। इससे वे स्वयं तो स्वस्थ रहेंगे साथ ही अपने परिवार के लिए भी एक अच्छी सीख देंगे। दिनभर में करीब 20 से ज्यादा लोगों से हाथ जोड़कर विरोध कर रहे रहवासियों ने निवेदन किया। उन्होंने बताया कि अगर शराब दुकान पर लोगों ने खरीदी करने आना बंद नहीं किया तो बुधवार को दिनभर वे विरोध स्वरूप लोगों को दूध और छाछ भी बांटेंगे। इसके अलावा रहवासियों का कहना है कि शराब दुकान को यहां से प्रशासन जल्दी ही कहीं और शिμट किए जाने को लेकर निर्णय ले। अगर ऐसा नहीं किया जाता है तो वे उग्र आंदोलन करेंगे। एसडीएम रवि सिंगी ने प्रदर्शन कर रहे रहवासियों को आश्वासन दिया कि शराब दुकान के लिए प्रशासन एक नई जगह तलाश रहा है। जल्दी ही इस दुकान को यहां से शिμट कर दिया जाएगा। ऐसे में तब तक रहवासी प्रशासन का सहयोग करें। इस पर रहवासियों ने साफ शब्दों में इनकार कर दिया।