बागियों को दिया ऑफर : विधायक लौट आएं पार्टी में, मिलेगा मंत्रीपद

बागियों को दिया ऑफर : विधायक लौट आएं पार्टी में, मिलेगा मंत्रीपद

बेंगलुरु। कर्नाटक में सत्तारूढ़ कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन सरकार पर खतरा बरकरार है। शनिवार को कांग्रेस और जेडीएस के 13 विधायकों द्वारा विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंपने से राज्य में 13 माह पुरानी मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली सरकार खतरे में पड़ गई है। इस बीच इन बागी विधायकों को मुंबई के होटल ले जाया गया है।इन्हें कांग्रेस के कोटे के बचे मंत्री पद की पेशकश की गई है। इधर विदेश यात्री लौटे कुमारस्वामी नई दिल्ली से सीधे बेंगलुरु पहुंच गए हैं। उन्होंने जेडीएस विधायकों के साथ बैठक कर हालात का जायजा गया। वहीं कर्नाटक कांग्रेस के विधायक एसटी सोमशेखर ने कहा है कि हम सभी 13 विधायकों ने स्पीकर को इस्तीफा सौंप दिया है और राज्यपाल को इसकी जानकारी दे दी है। उन्होंने कहा कि वापस कर्नाटक जाने और इस्तीफा वापस लेने का कोई सवाल ही नहीं पैदा होता है।

और भी विधायक दे सकते हैं इस्तीफा: पाटिल

इस बीच मंबई के होटल में ठहरे एक बागी विधायक बीसी पाटिल का कहना है कि अभी 8- 10 और विधायक कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार से इस्तीफा दे सकते हैं। इससे पहले एक अन्य विधायक भी विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा दे चुका है। इस तरह कुल 14 विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है।

आपरेशन कमल से बनी स्थिति : सिद्धारमैया

कर्नाटक के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा इस सबके पीछे भाजपा है। आपरेशन कमल के चलते ही यह स्थिति हुई है। उन्होंने बताया कि ये सब जल्द ही खत्म हो जाएगा।

भाजपा में लोग संन्यासी नहीं, मामले पर है नजर

कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि भाजपा कर्नाटक में राजनीतिक घटनाक्रमों पर नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी में लोग संन्यासी नहीं हैं, जो सरकार बनाने की संभावनाओं से इनकार करेंगे। उन्होंने कहा, इंतजार कीजिए और देखिए। क्या हम संन्यासी हैं इस्तीफा की प्रक्रिया खत्म होने और विधानसभा अध्यक्ष द्वारा निर्णय लेने के बाद हमारी पार्टी के नेता विचार-विमर्श करेंगे और निर्णय करेंगे।

आजाद-खडगे करेंगे बागियों से बात

बागी विधायकों को वापस लाने की रणनीति तेज हो गई है। सूत्र बताते हैं दिल्ली में गुलाम नबी आजाद और मल्लिकार्जुन खडगे बागी विधायकों से बात करेंगे। खड़गे ने इस्तीफा देने वाले विधायकों को कांग्रेस का वफादार बताते हुए कहा कि इस्तीफा देने वाले विधायक अपने फैसले पर फिर सोचेंगे। सूत्रों के मुताबिक सरकार में शामिल कांग्रेस कोटे के सभी मंत्री इस्तीफा देंगे और ये पद बागी विधायकों को सौंपा जाएगा।

कर्नाटक के असंतुष्ट विधायकों के मुंबई में होने की कोई जानकारी नहीं : भाजपा

इधर महाराष्ट्र भाजपा ने रविवार को दावा किया कि उसे कांग्रेस-जद (एस) गठबंधन के 10 असंतुष्ट विधायको के मुंबई में होने की कोई जानकारी नहीं है। कर्नाटक की सत्तारूढ़ जद (एस)-कांग्रेस सरकार शनिवार को गठबंधन के 13 विधायकों के अचानक इस्तीफा देने के बाद संकट में आ गई है। इस्तीफा देने के बाद ये 10 विधायक एक चार्टर्ड विमान से शनिवार रात मुंबई पहुंचे, जहां वे एक होटल में रुके हैं। महाराष्ट्र भाजपा के प्रवक्ता केशव उपाध्याय ने इस पूरे मामले पर कहा कि हमें कर्नाटक के विधायकों के मुंबई में होने की कोई जानकारी नहीं है। हमारा इस घटनाक्रम से कोई लेनादे ना नहीं है।