चारा-चोकर के नाम पर बड़े डेयरी वाले बढ़ा रहे दूध के दाम

चारा-चोकर के नाम पर बड़े डेयरी वाले बढ़ा रहे दूध के दाम

जबलपुर । गर्मी में दूध की खपत बढ़न के साथ दूध लॉबी फिर सक्रिय हो गए हैं। गाय-भैसों को खिला जाने वाले चोकर और चारे का दाम अधिक बताकर सुनियोजित ढंग से दूध के दाम बढ़ाने के पक्ष में माहौल तैयार कर लिया गया। वहीं जानकारों का कहना है कि नया भूसा आने वाला है। मक्का,चोकर और चारा भी भरपूर है इसके बाद भी दाम बढ़ाना खुली लूट को छूट दे रहा है। इस संबंध में छोटे स्तर के डेयरी वालों ने बताया कि दूध के दाम बढ़ाने के योजना शहर के बउÞे फार्म संचालकों की है। हर साल गर्मी के महीने में दूध बढ़ाने के लिए ऐसा किया जाता है। गौरतलब है कि गर्मी में दूध की खपत बढ़ जाती है। दही, लस्सी छाछ, श्रीखंड बनाने के लिए दूध की मांग इस दौरान बढ़ जाती है और दुग्ध उत्पादकों को रेट बढ़ाने का मौका मिल जाता है। अभी नियंत्रित हैं खाद्यान्न के रेट दुग्ध उत्पादकों को 2 हजार रुपए क्विंटल चुनी और चोकर मिल रही है। वहीं 160 रुपए मन भूसा मिल रहा है। जबकि मक्का दाना 2200 रुपए क्विंटल है। इसके बाद भी दुग्ध उत्पादक खपत के नाम पर प्रशासन पर दबाव बनाने की कोशिश में लगा है। गुणवत्ता की जांच हो इस संबंध में पेंशनर एसोसिएशन ने जिला प्रशासन से दूध की गुणवत्ता की जांच करने, शहर से बाहर आपूर्ति पर रोक लगाने और दाम नियंत्रित करने की मांग की है। इस संबंध में एचपी उरमलिया, अरुण सलारिया, शेषमणि पांडेय ने प्रशासन को ज्ञापन भी दिया है। गौरतलब है कि एसोसिएशन ने पिछले साल यह मुद्दा उठाया था।

सांची के पैकेटों को खोल कर बेच रहे

घर-घर जाकर दूध सप्लाई करने वाले कई दूध व्यापारी सांची के थोक मात्रा में पैकेट खरीद लेते हैं। इस दूध को कैन में एकत्र कर पानी की मिलावट कर बेचा जा रहा है। वहीं कई डेयरियों में मिलावटी दूध के कई बार सैंपल लेकर कार्रवाई हो चुकी है। कार्रवाई के डर से 8-10 दिन तक सही रास्ते पर चलने वाले व्यापारी फिर मिलावट को अंजाम देने में हिचक नहीं करते हैं।